15 August Par Shayari

15 August Par Shayari, quotes on independence day in hindi, 15 august shayari in hindi, 15 अगस्त की देशभक्ति शायरी attitude, 15 अगस्त पर शायरी 2022, 15 अगस्त पर शायरी फोटो, स्वतंत्रता दिवस पर शायरी 2022.

15 August Par Shayari

15 August Shayari in Hindi 2022

मेरे प्यारे दोस्तों आप सभी को 15 August (स्वतंत्रता दिवस) की हार्दिक शुभकामनाये. आज हमारे देश का सबसे बड़ा दिन है, इसी उपलक्ष पर Best 100+15 August Par Shayari in Hindi 2022 आपके साथ साझा कर रहे है. 15 August यानी आज हमारे महान भारत देश के लिए यह बहुत ही बड़ा त्यौहार दिन है आज के ही दिन हमने अपने स्वतंत्रता की पहली साँस लीया था.

जिस देश में पैदा हुए हो तुम, उस देश के
अगर तुम भक्त नहीं,नहीं पिया दूध माँ का
तुमने और बाप का तुम में रक्त नहीं
वन्देमातरम !! स्वतंत्रता दिवस मुबारक हो.

दो सलामी इस तिरंगे को जिस से तुम्हारी शान हैं, सर हमेशा ऊँचा रखो इसका जब तक दिल में जान हैं..!!

चलो फिर से आज वह नज़ारा याद कर ले,
शहीदों के दिल में थी वो ज्वाला याद कर ले,
जिसमे बहकर आज़ादी पहुंची थी किनारे पे
देशभक्तो के खून की वो धारा याद कर ले।

15 August Par Shayari 2022

मैं मुस्लिम हूँ.., तू हिन्दू है..,है दोनों इंसान,
ला मैं तेरी गीता पढ़ लूँ.., तू पढ़ ले कुरान..,
इस स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर
मेरा बस एक ही अरमान..,
एक थाली में खाना खाए सारा यह हिन्दुस्तान।
-----

दोस्ताना इतना बरक़रार रखो कि
मज़हब बीच में ना आये कभी,
तुम उसे मंदिर तक छोड़ दो,
वो तुम मस्जिद छोड़ आये कभी !!
-----

तिरंगा हमारा शान-ए-जिंदगी,
वतन परस्ती हैं वफा-ए-जमीं,
देश के मर मिटना काबुल है हमें,
अखंड भारत के स्वपन का जुनून हैं हमें…
-----

तैरना है तो समंदर में तैरों नालों में क्या रखा है,
प्यार करना है तो देश से करो औरों में क्या रखा है।
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
15 अगस्त पर शायरी 2022

काँटों में भी फूल खिलाएं...इस धरती को स्वर्ग बनायें,
आओ, सब को गले लगायें...हम स्वतंत्रता का पर्व मनाएं.
15 अगस्त पर शायरी 2022

सुन्दर है जग में सबसे, नाम भी न्यारा है
जहाँ जाती-भाषा से बढ़कर, देश-प्रेम की
धारा है निशचल, पावन, प्रेम पुराना, वो
भारत देश हमारा है स्वतंत्रता दिवस की
शुभकामनाये.
15 अगस्त पर शायरी 2022

आओ झुक कर सलाम करे उनको..जिनके हिस्से में ये मुकाम आता है
खुशनसीब होता है वो खून जो देश...के काम आता है.
-----
चलो फिर से खुद को जगाते है..,अनुसाशन का डंडा फिर घूमाते है..,सुनहरा रंग है गणतंत्र स्वतंत्रता का.,शहीदों के लहू से ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है…

Read  More:- Tiranga Shayari in Hindi Images

Related Posts

Subscribe Our Newsletter

0 Comments to "15 August Par Shayari"

एक टिप्पणी भेजें