Best 150+ Gam Bhari Shayari Image | गम भरी शायरी

 Gam shayari, shayari gam bhari, dard bhari shayari photo, dard bhari shayari image, gam bhari shayari photo, gam bhari shayari image.

अदि आप अपने दिलो के गम छुपा छुपा कर थक चुके है तो आपके दिल के गम को सहारना देने के लिए यहाँ कुछ gam bhari shayari दिया गया है जिसे आप अपने फेसबुक तथा whatsapp पर शेयर कर सकते हो.

Heart Touching Gam Bhari Shayari Photo

दिल के दरवाजे पे अब लगा दिए हैं ताले जिसे भी दी दिल में जगह उसी ने किया हैं दर्द के हवाले
dil ke daravaaje pe ab laga diye hain taale jise bhee di dil mein jagah usee ne kiya hain dard ke havaale
Best 150+ Gam Bhari Shayari Image | गम भरी शायरी
कुछ दर्द ऐसे होते हैं, जिनका दायरा सिर्फ खुद तक सीमित होता है.... वो किसी और के साथ बाँटें नही जा सकते...
kuchh dard aise hote hain, jinaka daayara sirf khud tak seemit hota hai.... vo kisi aur ke saath baante nahi ja sakate

Shayari Gam bhari in Hindi

एक " अल्लाह ही तोह है जो खामोश दिल' की भी सुन लेता है
Ek " Allah Hi Toh Hai Jo Khamosh Dil'on Ki Bhi Sun Leta Hai
------

बदलते लोग, बदलते रिश्ते, और बदलता मौसम, चाहे दिखाई ना दे मगर महसूस ज़रूर होते हैं 
badalate log , badalate rishte, aur badalata mausam, chaahe dikhaee na de magar mahasoos zaroor hote hain
Best 150+ Gam Bhari Shayari Image | गम भरी शायरी
तुझ से बिछड़ी तो सोचती हूँ मैं ख़ुद को कब तक सँभाल पाऊँगी जितनी बातें हैं उतनी यादें हैं कैसे कैसे उन्हें भुलाऊँगी

tujh se bichhadi to sochati hoon main khud ko kab tak sambhaal paungei jitani baate hain utani yaade hain kaise-kaise unhe bhulaungi

Gam bhari shayari Hindi mein

मोहब्बत किसी से करनी हो तो हद में रहकर करना वरना किसी को बेपनाह चाहोगे तो टूटकर बिखर जाओगे

mohabbat kisee se karanee ho to had mein rahakar karana varana kisee ko bepanaah chaahoge to tootakar bikhar jaoge
-----

अफसोस होता है उस पल जब अपनी पसंद कोई और चुरा लेता है.. ख्वाब हम देखते हैं और हकीकत कोई और बना लेता है
aphasos hota hai us pal jab apanee pasand koee aur chura leta hai .. khvaab ham dekhate hain aur hakeekat koee aur bana leta hai
Best 150+ Gam Bhari Shayari Image | गम भरी शायरी

चलो हिसाब बराबर रहा कोई गम नही
हमारे पास तुम नही तुम्हारे पास हम नही

chalo hisaab baraabar raha koee gam nahee
hamaare paas tum nahee tumhaare paas ham nahee
-----

सब ने चाहा कि उसे हम ना मिलें,
हम ने चाहा उसे गम ना मिलें,
अगर ख़ुशी मिलती है उसे हम से जुदा होकर,
तो दुआ है ख़ुदा से कि उसे कभी हम ना मिलें।

sab ne chaaha ki use ham na milen,
ham ne chaaha use gam na milen,
agar khushee milatee hai use ham se juda hokar,
to dua hai khuda se ki use kabhee ham na milen.
-----

ये दुःख अलग है कि 
उससे मैं दूर हो रहा हूं 
ये गम जुदा है वो 
 खुद मुझे दूर कर रहा है
तेरे बिछड़ने पर लिख रहा हूं मैं
ये ताज़ा गजले ये तेरा गम है
जो मुझे मशहूर कर रहा है
ye duhkh alag hai ki 
usase main door ho raha hoon 
ye gam juda hai vo 
 khud mujhe door kar raha hai
tere bichhadane par likh raha hoon main
ye taaza gajale ye tera gam hai
jo mujhe mashahoor kar raha hai
Best 150+ Gam Bhari Shayari Image | गम भरी शायरी

गम भरी शायरी

"ये दुक्ख अलग है कि उससे मैं दूर हो रहा हूंँ"
"ये ग़म जुदा है वो खुद मुझे  दूर कर रहा है"
"तेरे बिछड़ने पर  लिख रहा हूं मैं ताज़ा ग़ज़लें"
"ये तेरा ग़म है जो मुझको मशहूर कर रहा है "
😶😌🥺

"ye dukkh alag hai ki usase main door ho raha hoonn"
"ye gam juda hai vo khud mujhe  door kar raha hai"
"tere bichhadane par  likh raha hoon main taaza gazalen"
"ye tera gam hai jo mujhako mashahoor kar raha hai "
-----

किया खुश रखने का हमेशा एक वादा है ,
ना कोई गलत काम करने का मेरा कोई इरादा है ।
आंखो से आते हुए आंसुओ ने बता दिया ,
की जिंदगी में दिए रब ने गम कुछ ज्यादा है ।
kiya khush rakhane ka hamesha ek vaada hai ,
na koee galat kaam karane ka mera koee iraada hai .
aankho se aate hue aansuo ne bata diya ,
kee jindagee mein die rab ne gam kuchh jyaada hai .
-----

सारा मसला बस, दम का होता है
दिल पर सारा हक़,गम का होता है

बहकने लगता हूं,उससे मिलकर मैं
उसकी आंखों में नशा,रम का होता है

उसका इक लफ्ज़ भी, नही उधार
हुम पर ज़बाब,मेरे हुम का होता है

saara masala bas, dam ka hota hai
dil par saara haq,gam ka hota hai

bahakane lagata hoon,usase milakar main
usakee aankhon mein nasha,ram ka hota hai

usaka ik laphz bhee, nahee udhaar
hum par zabaab,mere hum ka hota hai
-----

ले कर कोई पैग़ाम कबूतर नहीं आते
अब ग़म भी तिरा रूप बदल कर नहीं आते
उठ जाते हैं बे-साख़्ता पाँव तिरी जानिब
हम दर पे तिरे सोच-समझ कर नहीं आते

le kar koee paigaam kabootar nahin aate
ab gam bhee tira roop badal kar nahin aate
uth jaate hain be-saakhta paanv tiree jaanib
ham dar pe tire soch-samajh kar nahin aate
-----

किया खुश रखने का हमेशा एक वादा है,
ना कोई गलत काम करने का मेरा कोई इरादा है ।
आंखो से आते हुए आंसुओ ने बता दिया,
की जिंदगी में दिए रब ने गम कुछ ज्यादा है ।
kiya khush rakhane ka hamesha ek vaada hai ,
na koee galat kaam karane ka mera koee iraada hai.
aankho se aate hue aansuo ne bata diya,
kee jindagee mein die rab ne gam kuchh jyaada hai.

READ MORE:-

Related Posts

Subscribe Our Newsletter

0 Comments to "Best 150+ Gam Bhari Shayari Image | गम भरी शायरी"

एक टिप्पणी भेजें